Home उत्तराखण्ड रंगराजन आयोग की सिफारिशों के क्रियान्वन पर की समीक्षा बैठक

रंगराजन आयोग की सिफारिशों के क्रियान्वन पर की समीक्षा बैठक

29
0
SHARE

देहरादून। राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग, भारत सरकार के अध्यक्ष डॉ.राधामोहन वर्मन ने मंगलवार को मुख्य सचिव सभागार, सचिवालय में आयोग की 101वीं बैठक में राज्य सरकार के प्रमुख विभागों में संचालित सांख्यिकी कार्यों की समीक्षा की। पशुपालन विभाग के अंतर्गत बैठक में रंगराजन आयोग की सिफारिशों के क्रियान्वन की स्थिति की समीक्षा की गई। पशुओं की जनगणना, पशु तथा कृषि जनगणना के एकीकरण, पशु उत्पादों के संबंध में नमूना सर्वे पर चर्चा की गई।
सभी विभागों में सांख्यिकी गणना हेतु नवोन्मेषी तरीकों तथा बेस्ट प्रैक्टिसेज अपनाने पर भी बल दिया गया। प्रमुख विभागों द्वारा सांख्यिकी के सुदृढ़ीकरण हेतु किए गए प्रयासों, डाटा एकत्रीकरण तथा मान्यता प्रक्रिया की स्थिति की अद्यतन जानकारी दी गई। उद्योग, चिकित्सा, वन, कृषि, पशुपालन, उद्यान, शिक्षा, ग्राम विकास, राजस्व एवं नियोजन विभाग के अधिकारियों द्वारा संबंधित विभागों में डाटा सेट की उपलब्धता तथा डाटा क्वालिटी को सुनिश्चित करने हेतु किए गए प्रयासों के साथ ही सांख्यिकी रिपोर्टों के प्रकाशन तथा प्रसार की स्थिति पर भी चर्चा की गई। बैठक में राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के सभी सदस्य, सचिव सांख्यिकी व कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय, भारत सरकार, मुख्य सचिव उत्तराखण्ड सहित उद्योग, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, उद्यान, शिक्षा, ग्राम विकास, राजस्व एवं नियोजन विभाग के प्रमुख सचिव तथा विभाग अध्यक्षों द्वारा प्रतिभाग किया गया।
वहीं सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामकृपाल यादव ने शिष्टाचार भेंट की। केन्द्रीय राज्यमंत्री यादव ने राज्य में ग्रामीण विकास से सम्बन्धित संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन पर सन्तोष व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही कठिनाईयों के निराकरण से सम्बन्धित सुझाओं पर केन्द्र सरकार के स्तर पर अमल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ ही पीएमजीएसवाई के अन्तर्गत गांवों को सड़क से जोड़ने से सम्बन्धित योजनाओं के क्रियान्वयन में और तेजी लायी जाय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here