Home उत्तराखण्ड डीएम और यमनोत्री विधायक ने सरनोल में सुनी जन समस्या पीएमजीएसवाई से...

डीएम और यमनोत्री विधायक ने सरनोल में सुनी जन समस्या पीएमजीएसवाई से लेकर कई अधिकारियों को लगाई फटकार

40
0
SHARE

बलबीर परमार

उत्तरकाशी मुख्यालय से 125किलोमीटर दूर यमुनाघाटी के सरनोल में आज जिलाधिकारी और यमनोत्री विधायक  ने शिविर लगाया और जनता की समस्या सुनी। खराब से सड़क से जिला प्रसासन और जनप्रतिनिधि गाँव पहुँचे। शिविर शुरू होते ही गांव के लोगो ने एक शुर में कहते हुए मांग की साहिब हमे हमारी सड़क सही करवा दो और सर बडियार के 8गाँव मे सड़क पहुँचा दो। देखे सरनोल गाँव से एक रिपोर्ट

जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान के अध्यक्षता में तहसील बड़कोट के सरनौल मां रेणुका मंदिर परिसर मे बहुउद्देशीय शिविर का आयोजन किया गया। आयोजित शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में यमुनोत्री विधायक केदार सिह रावत ने प्रतिभाग किया। जबकि जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा भी मौजूद रही। जिला प्रसासन और जनप्रतिनिधि 125किलोमीटर उबड़ खाबड़ रास्तो से होते हुए सरनोल गाँव पंहुचे।शिविर  में में मुख्य मांग सड़क ही ग्रामीणों का मुख्य मुद्दा रहा । ग्रामीणों ने एक सुर में सड़क बनाने की माँग  जिलाधिकारी  सी की। जिस पर जिलाधिकारी ने पीएमजीएसवाई के ईई को बुलाकर संतुष्ट जवाब न मिलने पर  जमकर फटकार भी लगाई। वंही गांव के लोगो ने सड़क की बदहाली का दर्द रोया वंही सरबड़ियार क्षेत्र के 8गांव की पीड़ा भी बताई। कुल 55 शिकायत/समस्याए दर्ज हुयी। जिसमें 38 शिकायत एवं समस्याओं का जिला स्तरीय अधिकारियों की मौजूदगी में मौके पर ही निस्तारित की गई तथा शेष प्रकरणों को संबंधित विभागों को अग्रीम कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने राजगढी सरनौल मोटर मार्ग को व्यक्तिगत रूप से मोनेट्रिंग कर षीघ्र दुरस्त एवं डामरीकरण करवाने को भरोसा ग्रामीणों को दिया।

क्या रहा शिविर में खास

शिविर में ग्रामीणों की सबसे अधिक शिकायतें पीएमजीएसवाई विभाग को लेकर रही। ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें सड़क निर्माण कार्य के लिए अपनी भूमि को दिया लेकिन उसका मुआवजा आज तक नहीं मिला। जिस पर जिलाधिकारी ने पीएमजीएसवाई को सड़क संबंधित प्रतिकर वितरण को लेकर उप जिलाधिकारी बडकोट को जांच कर मांनक के अनुसार वितरण करवाने के निर्देष दिये। जबकि सड़क की डामरीकरण एवं सुधारीकरण हेतु टेण्डर हुए कार्य में विलम्ब होने पर संबंधित फाईल को कार्यालय में प्रेषित करने के निर्देष दिये। कहा कि लापरवाही करने वाले संबंधित अधिकारी कर्मचारी के विरूद्ध कार्यवाही किया जायेगा। ग्राम प्रधान द्वारा निर्माण कार्य में भुगतान में अनियमितता की षिकायकत पर जिलाधिकारी ने मनरेगा के तहत मजदूरी भुगतान न होने पर कोषाधिकारी, डीपीओ एवं बीडीओ को जांच हेतु नामित किया कहा कि जांच कर 7 दिन के भीतर निस्तारित करें। षिविर में पहुंचे चार दिव्यागंजनों के पेंशन एक वर्ष से न मिलने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने सहायक समाज कल्याण अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी को संबंधित दिव्यांग के आधार सीडिंग कर रिर्पोट प्रेषित करने के निर्देश दिये। मथा सिह राणा के मकान के रास्ते में ग्राम सभा के निर्माण कार्य पानी आने की षिकायत पर जिलाधिकारी ने पटवारी को 24 घण्टे के भीतर निस्तारण करने तथा विवाद करने वालों के विरूद्ध पीपी एक्ट पर चालान करने के निर्देष दिये। सरनौल निवासी रमेश ने विद्युत कनेक्सन संयोजन करने की मांग पर जिलाधिकारी ने आयोजित शिविर में विद्युत विभाग की ओर से स्थापित स्टाल पर फार्म भरकर सौभाग्य योजना से विद्युत संयोजन करने के निर्देष दिये। इस दौरान जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को सौभाग्य योजना के तहत अपने विद्युत विहीन घरों में विद्युत कनेक्सन संयोजन करने को कहा।  इसी प्रकार दुरस्थ क्षेत्र सरनौल में आयोजित शिविर में पीएमजीएसवाई, राजस्व, सिंचाई, शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, समाज कल्याण, पीआरडी, लोनिवि, वन विभाग, से संबंधित रही।

ग्रामीण ने शिविर के बाद अधिकारियों को इस पर अमल करने की भी बात कही है। साथ ग्रामीणों का कहना था इससे पहले भी शिविर लगे है लेकिन घाटी के हालात जस के तस और बद से बदतर हुई है।
यमनोत्री विधायक ने इस मौके पर कहा कि जिलाधिकारी द्वारा आये शिकायत को गम्भीरता से लिया गया। अधिकांश शिकायतों को मौके पर ही निस्तारित किये गये। उन्होने कहा कि सरनौल मोटर मार्ग के डामरीकरण हेतु चार करोड़ की टेण्डर पर लेट लतीफे होने से इसे गम्भीरता से लिया जायेगा। जल्द से जल्द अच्छी सड़क ग्रामवासियों को दी जायेगी। उन्होने कहा कि सरकार को मंशा है कि आयोजित बहुउद्देशीय शिविर में अधिक से अधिक जनता के समस्या का निस्तारण किया जाय। और

आगे इस तरह के शिविर लगवाने की बात कही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here