Home विदेश फेसबुक ने चेताया भविष्य में भी हो सकता है डाटा लीक

फेसबुक ने चेताया भविष्य में भी हो सकता है डाटा लीक

16
0
SHARE

सैन फ्रांसिस्को। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने अपने निवेशकों को अलर्ट करते हुए कहा है कि भविष्य में डेटा लीक जैसी और भी घटनाएं सामने आ सकती हैं। इस तरह के मामले कंपनी की प्रतिष्ठा और छवि को नुकसान पहुंचा सकते हैं। फेसबुक ने अमेरिकी सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन को दी गई तिमाही रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया है। हालांकि इसमें क्रैंबिज एनालिटिका का नाम नहीं लिया गया है।
निवेशकों को फेसबुक की चेतावनी
अपनी तिमाही रिपोर्ट में कंपनी ने कहा है कि सेफ्टी और कंटेंट रिव्यू के लिए बड़ी रकम खर्च की जा रही है और इससे डेटा के गलत इस्तेमाल को रोकने में आसानी होगी। फेसबुक के मुताबिक मीडिया और थर्ड पार्टी की ओर से इस तरह की घटनाएं और संदिग्ध गतिविधियां सामने आई हैं।
फेसबुक के निवेशकों को चेताया है कि इस तरह के और भी मामले हो सकते हैं। कंपनी की पॉलिसी के खिलाफ डेटा का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है। कंपनी ने कहा है कि चुनावी कैंपेन, अनचाहे विज्ञापन और गलत सूचनाएं फैलाने के लिए डेटा का गलत इस्तेमाल हो सकता है। ऐसा होने पर हमारे यूजर्स का भरोसा कम हो सकता है, ब्रांड इमेज घट सकती है और बिजनेस पर भी असर पड़ सकता है। कंपनी का यहां तक कहना है कि गलत इस्तेमाल जैसे मामलों से हमारी कानूनी मुश्किलें बढ़ सकती हैं और पेनाल्टी की वजह से आर्थिक नुकसान होने और समय खर्च होने की भी आशंका है।
अमेरिकी संसद में पेशी के वक्त फेसबुक के फाउंडर और सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा था कि वो खुद भी डेटा मिसयूज के शिकार हुए हैं। जिन यूजर्स के डेटा गलत तरीके से ब्रिटिश पॉलिटिकल कंसल्टेंसी फर्म के साथ शेयर किए गए उनमें खुद उनकी जानकारियां भी शामिल थीं।
हालांकि मार्च में सामने आए डेटा लीक विवाद का कंपनी की पहली तिमाही के नतीजों पर कोई असर नहीं दिखा। बुधवार को फेसबुक ने नतीजों की घोषणा की थी। जनवरी से मार्च के दौरान कंपनी का मुनाफा 63 फीसदी बढ़कर 32,500 करोड़ रुपए हो गया। कंपनी की आय 49ः बढ़कर 78,000 करोड़ रुपए हो गई। इस दौरान कंपनी को सबसे ज्यादा फायदा एडवरटाइजिंग से हुआ है जो कुल मुनाफे का 49 फीसदी है।
डेटा लीक विवाद मार्च में सामने आया था, इसलिए हो सकता है कि दूसरी तिमाही के नतीजों पर इसका असर दिखे। इस विवाद के बाद फेसबुक से भरोसा घटने की खबरें सामने आई थीं और कई यूजर्स ने अपने अकाउंट डिलीट किए थे। फेसबुक को भी इस बात की आशंका है कि भविष्य में डेटा मिसयूज की वजह से कंपनी के बिजनेस पर असर पड़ सकता है।
सेफ्टी फीचर्स को बढ़ाने के लिए कंपनी 10,000 नए कर्मचारी भर्ती करेगी। दुनिया के हर हिस्से में नई भर्तियां की जाएंगी जिनमें कंटेंट मॉडरेटर भी शामिल होंगे।
गॉर्जियन और न्यूयॉर्क टाइम्स ने छापा कि ट्रम्प के कैंपेन से जुड़ी ब्रिटिश फर्म कैंब्रिज एनालिटिका ने 2014 में 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा गलत तरीके से हासिल किया था। फेसबुक को इसका पता था, पर यूजर्स को सतर्क नहीं किया गया।
वादा नहीं निभाया एनालिटिका ने फेसबुक ने एनालिटिका को अपने प्लेटफॉर्म से सस्पेंड कर दिया। साथ ही सफाई दी कि 2015 में ही उसका एप बैन कर दिया था। एनालिटिका ने सारा डेटा डिलीट करने का भरोसा दिया था, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया।
19 मार्च 2018 सीईओ का स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा ब्रिटिश चैनल 4 ने एनालिटिका के सीईओ एलेग्जेंडर निक्स का स्टिंग किया। उन्होंने माना कि क्लाइंट को जिताने के लिए हर हथकंडा अपनाते हैं। डेटा पर काम करने के चलते ट्रम्प को बड़ी जीत हासिल हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here