Home क्राइम हरियाणा पुलिस ने अवैध हथियार निर्माण फैक्टरी का किया पर्दाफाष

हरियाणा पुलिस ने अवैध हथियार निर्माण फैक्टरी का किया पर्दाफाष

52
0
SHARE

पंचकूला, 9 जुलाई – अवैध हथियार रैकेट के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई करते हुए हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने जिला जींद और झज्जर में चल रही दो अवैध हथियार निर्माण फैक्टरी का पर्दाफाष किया है। इस दौरान चार आरोपियों की गिरफ्तारी के अलावा, पुलिस ने भारी मात्रा में 35 देसी हथियार भी जब्त किए हंै जिनमें राइफल, पिस्तौल, रिवाल्वर, दोनाली, अर्ध तैयार हथियार, कारतूस और इनको बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले अन्य टूल्स भी शामिल हैं।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस महानिदेशक, श्री बी0 एस0 संधू ने अवैध हथियारों के रैकेट की रोकथाम को लेकर की गई इस महत्वपूर्ण कार्रवाई के लिए डीआईजी एसटीएफ, श्री सतीष बालन और उनकी टीम को बधाई दी है।
उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान हामिदपुर दिल्ली के दीपक उर्फ गोलू और बहराना, झज्जर निवासी विनोद उर्फ खेमा, दिलबाग उर्फ बाबा और सुनील उर्फ अंगूर के रूप में की गई है


दोनों जिलों में अवैध हथियार रैकेट के बारे एक मजबूत इनपुट प्राप्त होने उपरांत, छापेमारी के लिए एसटीएफ की दो अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। दोनों टीमों ने विकास नगर, जींद और झज्जर के बहराणा गांव में अलग-अलग रेड मार कर चार आरोपी, जो अवैध हथियार कारखाने चला रहे थे, को गिरफ्तार किया गया है। एक आरोपी सोनू भागने में कामयाब रहा।
पुलिस द्वारा विकास नगर, जींद में छापे के दौरान 315 बोर के 2 पिस्टल, 32 बोर की एक पिस्टल, 32 बोर का एक रिवाल्वर, एक दोनाली 12 बोर, 315 बोर के 3 सेमी-फिनिशड पिस्तौल, 9 कारतूस और असलाह निर्माण का अन्य सामान बरामद किया गया। जबकि बहराणा से पुलिस टीम ने 3 पिस्टल 315 बोर, 1 राइफल, 1 रिवाल्वर 32 बोर, 1 पिस्तौल 12 बोर, 32 बोर के 3 आधे बने पिस्तौल, नौ कारतूस और अन्य सामग्री जब्त की है।
सभी पकडे गए आरोपियों के खिलाफ मामले दर्ज कर उनसे पूछताछ की जा रही है। एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here