Home उत्तरप्रदेश बदमाशों की एक बार फिर से चुनौती दो परिवारों को लूटा

बदमाशों की एक बार फिर से चुनौती दो परिवारों को लूटा

36
0
SHARE

रुद्रपुर। बदमाशों ने एक बार फिर से पुलिस को खुली चुनौती दी है। इस बार चुनौती उत्तराखंड ही नहीं यूपी पुलिस को भी है। शहर से सटी यूपी के बिलासपुर की एक कालोनी के घर में घुसे बदमाशों ने दो परिवारों के साथ जमकर लूटपाट की। दोनों परिवारों के सदस्यों से मारपीट की गई। सुबह सूचना मिलने पर रुद्रपुर व बिलासपुर की पुलिस मौके पर पहुंच गई।
रुद्रपुर रेलवे स्टेशन यूपी के क्षेत्र में पड़ता है। रेलवे स्टेशन के सामने ही सोढी कालोनी है। एफसीआई से रिटायर्ड तकनीशियन गोपाल दास का मकान जीआरपी थाने के सामने स्थित है। मकान के एक हिस्से में एक कंपनी से रिटायर सुनील शर्मा अपने परिवार के साथ रहते हैं। सुनील की पत्नी मंजू रानी किच्छा क्षेत्र के शहदौरा प्राइमरी स्कूल में शिक्षिका है। जबकि उनका बेटा अमन यहां एक स्कूल में पढ़ता है।
बीती रात बदमाश गोपाल दास के घर में बाउंड्री वॉल कूदकर दाखिल हुए और एसी के पास स्थित ग्रिल उखाडकर कमरे में घुस गए। तीन नकाबपोश व तीन बगैर नकाबपोश बदमाशों ने गोपाल व उनकी पत्नी रीता को बंधक बना लिया। दोनों ने शोर मचाने की कोशिश की तो बदमाशों ने गोपाल के मुंह तमंचे की नाल डाल दी। साथ ही मारपीट की। बदमाशों ने यहां से आठ तोला सोने के जेवर व तीन हजार की नगदी लूट ली। इसके बाद बदमाश सुनील के कमरे में दाखिल हुए। यहां पर बदमाशों ने तीनों को बंधक बना लिया। अमन ने विरोध की कोशिश की तो बदमाशों ने उसे बुरी तरह पीटा। सुनील का देवरिया गांव में मकान बन रहा है। इसके चलते उन्होंने डेढ़ लाख रुपया घर में रखा था। बदमाशों ने डेढ़ लाख रुपया व करीब छह तोला सोने के जेवरात लूट लिये। सुबह पुलिस को सूचना दी गई तब कहीं जाकर बिलासपुर व रुद्रपुर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मौका मुआयना व पूछताछ की। रुद्रपुर के विधायक राजकुमार ठुकराल भी मौके पर पहुंच गए। विधायक ने पीड़ितों से जानकारी ली। रुद्रपुर से एसओजी प्रभारी तुषार बोरा भी अपनी टीम लेकर पहुंच गए।
वारदात जीआरपी पुलिस चैकी के बिल्कुल सामने हुई। चैकी व घर के बीच में मात्र एक सडक का अंतर है। करीब दो घंटे तक लूटपाट व मारपीट करते रहे लेकिन जीआरपी वालों को पता नहीं चला। यंूं कहें कि जीआरपी वालों ने दिलचस्पी ही नहीं दिखाई। यदि जीआरपी चैकी पर पुलिसकर्मी रात में जाग रहे होते तो शायद वारदात होने से बच जाती या फिर बदमाश पकड़े जाते।
पीड़ितों के अनुसार बदमाशों की संख्या छह थी। इनमें से तीन नकाबपोश थे और तीन बगैर नकाब के थे। बदमाशों ने तकरीबन दो घंटे तक घर में लूटपाट की और सारा सामान उलट-पलट कर दिया। बताया जा रहा है कि बदमाशों ने मौके पर ही लूट के माल का बंटवारा किया। इसमें सभी आपस में बातचीत कर रहे थे। पीड़ितों के अनुसार, बोलचाल में ये लोग बंगाली भाषा का प्रयोग कर रहे थे। इसके चलते पुलिस ने बिलासपुर व रुद्रपुर की बंगाली कालोनियों में संदिग्धों की धरपकड़ तेज कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here