Home उत्तराखण्ड शिक्षिका उत्तरा पंत बहुगुणा के पक्ष में उतरी कांग्रेस जलाया भाजपा सरकार...

शिक्षिका उत्तरा पंत बहुगुणा के पक्ष में उतरी कांग्रेस जलाया भाजपा सरकार का पुतला

55
0
SHARE

ऋषिकेश। मुख्यमंत्री के दरबार में तबादले की मांग को लेकर पहुंची शिक्षिका उत्तरा पंत बहुगुणा की गिरफ्तारी के मामले को कांग्रेस ने इसे मुद्दा बना दिया। कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया। वहीं, शिक्षिका के समर्थन में शिक्षक संघ भी उतर गया। साथ ही शिक्षिका ने कहा कि न्याय न मिलने पर वह न्यायालय की शरण लेंगी।
ऋषिकेश में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रेलवे रोड कांग्रेस भवन के समक्ष प्रदर्शन किया। साथ ही भाजपा सरकार का पुतला फूंका। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष जयेंद्र रमोला ने कहा कि मुख्यमंत्री जैसे गरिमामय पद पर बैठकर किसी व्यक्ति का यह आचरण उचित नहीं है।
मुख्यमंत्री को प्रदेश का मुखिया होने के नाते यहां सीधे कार्यवाही ना करके मामले की विभागीय जांच करवा कर शालीनता का परिचय देना चाहिए था। प्रदर्शन करने वालों में शिव मोहन मिश्र, वीरेंद्र सजवाण, नंदकिशोर जाटव, अरविंद भट्ट, एकांत गोयल, किशोर गौड़, हरिओम वर्मा, मुकेश जाटव, देवेंद्र प्रजापति, आशु वर्मा आदि शामिल थे।
डोईवाला में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शिक्षिका उत्तरा बहुगुणा के समर्थन में डोईवाला चैक पर भाजपा सरकार का पुतला फूंकते हुए नारेबाजी की। यूथ कांग्रेस के प्रदेश सचिव विक्रम सिंह नेगी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी भी की।

शिक्षिका के साथ दुव्र्यवहार निंदनीयः प्रीतम सिंह
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने मुख्यमंत्री के जनता दरबार में शिक्षिका के साथ किए गए दुव्र्यवहार की निंदा करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया। कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों से वार्ता में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि एक शिक्षिका मुख्यमंत्री के जनता दरबार में अपनी व्यथा सुनाने आई थी, लेकिन मुख्यमंत्री ने उनके साथ जिस प्रकार का व्यवहार किया वह सभ्य समाज के लिए शोभा नहीं देता है।
उन्होंने कहा कि जनता दरबार जनता की समस्याओं के निस्तारण के लिए लगाए जाते हैं न कि जनता का अपमान करने के लिए। कहा कि सरकार के जनता दरबारों में पहले भी कई ऐसी घटनाएं घट चुकी हैं जो जनहित में उचित नहीं ठहराई जा सकती हैं।

किच्छा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जनता दरबार में मुख्यमंत्री द्वारा एक महिला विधावा शिक्षिका से अभद्रता करने से गुस्साएं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएम का पुतला फूंका।
नगर कांग्रेस कार्यालय से डीडी चैक जुलूस निकालकर सीएम के खिलाफ नारेबाजी की करते हुए कांग्रेस नगराध्यक्ष भूपेंद्र चैधरी, प्रदेश प्रवक्ता संजीव कुमार सिंह एवं छोटू कोली ने संयुक्त रूप से कहा कि मुख्यमंत्री ने विधावा महिला शिक्षिका के साथ अभद्रता की। इस उपरांत शिक्षिका को निलंबित करने की कार्रवाई की गई, जो कि मुख्यमंत्री की गरिमा के अनुरूप नहीं है। सीएम द्वारा शिक्षिका के साथ इस तरह का दुव्र्यवहार उनकी पद की मार्यादा को तार तार करता है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद से ही सरकारी कर्मचारियों एवं अधिकारियों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है, जोकि सरकार की हिटलर शाही का परिचय देता है। सूबे की जनता आने वाले समय में भाजपा को सबक सिखाने का मन बना चुकी है। इसके उपरांत कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएम का पुतला दहन किया। इस दौरान डा. गणेश उपाध्याय, अरुण तनेजा, दर्शन कोली, दिलीप सिंह बिष्ट, विनोद सिंह कोरंगा, गुलशन सिंधी, अशोक मित्रा, केवल हुडिया, बंटी पपनेजा, हाजी जाकिर अंसारी, प्रिंस कोली आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here