Home उत्तराखण्ड 200 वर्ष पुराने पूजे जाने वाले पीपल के पेड़ को सुखाने से...

200 वर्ष पुराने पूजे जाने वाले पीपल के पेड़ को सुखाने से नाराज़ डी एल रॉड के नागरिक

53
0
SHARE
देहरादून

डी एल रॉड छेत्र में 200 वर्ष पुराने कुलदेवता के रूप में पूजे जाने वाले पीपल के पेड़ को सुखाने से नाराज़ डी एल रॉड के नागरिकों ने पुलिस के साये में लगाया नया पीपल का वृक्ष। इस अवसर पर छेत्रवासिओं द्वारा बताया गया कि इस पेड़ की पूज लगभग 200 से अधिक वर्षो से यहाँ के कई हज़ारों लोग करते रहे हैं जिसकी वार्षिक पूजा के लिए दूर दूर से लोग आया करते हैं।इस वर्ष भी लोग जब यहां आए तक पेड़ को सुखा पाया तो सब लोगो मे रोष फैल गया।पुलिस को बताए जाने पर उनके द्वारा मदद का आश्वाशन दिया गया। पुलिस के द्वारा बताया गया कि काफी समय पूर्व से इस पेड़ की पूजा की जाती रही है परंतु उस समय यहां काफी खुला स्थान रहा होगा।समय के साथ आसपास के छेत्र में बसावट हो जाने के बाद लोगो का जगह पर कब्जा बढ़ता गया।यहां पूजा करने वाले हालांकि आरोप लगाते हैं कि पेड़ की जड़ में उसको सुखाने के लिए तेज़ाब आदि डाला गया।छेत्र के गणमान्य एवम बुजुर्गों की मध्यस्थता के बाद आज उसी स्थान पर पुलिस की मौजूदगी में बाये छोटे पीपल वृक्ष पूर्ण पूजा और विधि विधान के साथ पण्डित उनियाल द्वारा लगवाया गया।इस अवसर पर सभी लोगो की सहमति के उपरांत सी सी टी वी भी लगाया गया है।मोके पर मनोहर लाल,देविका रानी,एडवोकेट शीशराम,बलवन्त,तारा सिंह पाल,करतार पाल,सुधीर,सीटू,सुनील पाल,परवीन पाल,सनतोष, सुनीता,बलवंती देवी, उषा,जगवंती,सरिता,विद्यावती सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here