Home उत्तराखण्ड माओवादी गतिविधियों में संलिप्त दो आरोपी गिरफ्तार

माओवादी गतिविधियों में संलिप्त दो आरोपी गिरफ्तार

44
0
SHARE

रुद्रपुर। उत्तराखण्ड के तराई इलाको में माओवादी गतिविधिया थमने का नाम नही ले रही है सन 2004 के बाद उधमसिंहनगर जनपद में फिर दो माओवादियो की गिरफ्तारी हुई है जिनके पास से माओवादी साहित्य ,पम्लेट बरामद हुए है जिनमे से एक माओवादी 2004 / 07 में पंजीकृत माओवाद संबंधी अपराध में वांछित था और दस हजार रुपए का इनामी था एसएसपी आफिस में प्रेसवार्ता करते हुए एसएसपी डॉ सदानंद शंकर राव दाते ने बताया की पुलिस ने माओवाद के विरूद्व प्रभावी कार्यवाही करते हुए माओवादी गतिविधियोंमें संलिप्त दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है उन्होंने बताया की तीन जून को सितारगंज सीओ हिमांशु शाह को मुखबिर से सूचना मिली की कोतवाली किच्छा के आनन्दपुर मोड़ के पास आम के बगीचे में दो संदिग्ध लोग बैठे है जिस परकिच्छा और नानकमत्ता पुलिस ने कार्यवाही करते हुए दोनों लोगो को पकड़ लिया गिरफ्तार दोनों व्यक्तियों में पहले व्यक्ति का नाम रमेश भट्ट उर्फ मनीष मास्टर उर्फ दिवाकर उर्फ भट्ट पुत्र लक्ष्मी दत्त भट्ट नि0 ग्राम दुमका बंगरहल्दूचैड़ थाना लालकुंआ जनपद नैनीताल तथा दूसरे व्यक्ति का नाम मनोज कुमार सिंह उर्फ अरविन्द पुत्र रतन सिंह नि0ग्राम हल्दुआ पो0ओ0 गेरेही थाना सैयद रजा जिला चन्दौली उ0प्र0 है। दोनो व्यक्तियो की तलाशी लेने पर इनके कब्जे से प्रतिबन्धित माओवादी साहित्य, पुस्तके एवं पम्पलेट बरामद की गयी एसएसपी दाते के अनुसार मनीष मास्टर उर्फ रमेश भट्ट पूर्व में 2004 व 2007 में पंजीकृत माओवादीसम्बन्धी अपराध में वांछित एवं 10,000 रू का ईनामी अपराधी है उन्होंने बताया कि पूछताक्ष के दौरान यह बात प्रकाश में आयी कि उक्त दोनो व्यक्ति लम्बे समय से माओवादी गतिविधियो में शामिल रहें है और ये उत्तराखण्ड जोनल कमेटी के सक्रिय सदस्य रहें है कहा वर्ष 2003 2004 के दौरान सोफुटिया हंसपुर खत्ता थाना चोरगलिया जनपद नैनीताल में चलाये गये माओवादी कैम्प में ये दोनों लोग शामिल रहें तथा पुलिस की दबिश के उपरान्त बच निकलने में कामयाब रहे। उक्त कैम्प में रमेश भट्ट आम जनता को माओवादी विचारधारा के प्रति जागृत कर भड़काने एवं जनवादी सरकार कायम करने के प्रति उकसाता था तथा अरविन्द उर्फ मनोज समस्त कैम्प का संयोजन, व्यवस्थापन एंव मास्टर माइंड रहा रमेश भट्ट थाना नानकमत्ता पर पंजीकृत एफ0आई0आर0 नम्बर 709ध्04 धारा 121/121ए/124ए/120बी भादवि एवं 3222/07 धारा 121/121ए/124ए/153बी/120बी भादवि व 10/20 विधि विरूद्ध क्रिया कलाप अधिनियम में वांछित था एसएसपी दाते ने बतायाकी कैम्प के संचालन के उपरान्त इनके द्वारा वर्ष 2005 में हुये मधुबनी बिहार में नक्सली हमले में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया गया तथा इस दौरान ‘‘आॅपरेशन धमाका‘‘ के अन्तर्गत थाना मधुबनी पूर्वी चम्पारन जिला मोतीहारी बिहार में एक साथ 300 माओवादियों द्वारा 09 स्थानों, जिनमें पुलिस स्टेशन, सांसद आवास, ब्लाॅक आदि शामिल है, में हमला किया गया। इस हमले में रमेश भट्ट अग्रिम टुकड़ी में रहकर सांसद के घर पर हमले में अग्रणी भूमिका में सक्रिय रहा। इस हमले में कई लोगो की जान गई व अनेको लोग गम्भीर रूप से घायल हुये। जिस समबन्ध में पंजीकृत एफ0आई0आर0 में भी उक्त रमेश भट्ट वांछित चल रहा है इसके अतिरिक्त इस दौरान इनके द्वारा बलिया, फर्रूखाबाद आदि में समय समय पर उत्तराखण्ड जोनल कमेटी की मीटिंग आयोजित की गयी, जिसमें सेंटर कमेटी के मेम्बर भी मौजूद रहें और उन्होंने अग्रिम रणनीती निर्धारित की इन्ही बैठकों में निर्धारित रणनीती के क्रम में उक्त दोनो माओवादियों को तराई क्षेत्र ,विशेषकर संगठित एंव असंगठित मजदूरों को माओवादी विचारधारा के प्रति उकसाने एवं शामिल करने की जिम्मेदारी दी गयी। उन्होंने कहा इनके द्वारा इसी रणनीति के अन्तर्गत अलग अलग फैक्ट्री में काम करके मजदूरअसंतोष को बढ़ाने का कार्य किया जा रहा था एसएसपी दाते ने कहा की दोनों की गिरफ्तारी से से तराई क्षेत्र में काफी हद तक इनके नेटवर्क को ध्वस्त को करने में कामयाबी मिली है जनपद पुलिस की इस कामयाबी पर अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने 10,000 रुपए पुलिस महानिरीक्षक कुमाऊ पूरन सिंह रावत ने 10000 रुपए और एसएसपी उधमसिंहनगर दाते ने 5000 रुपए का ईनाम घोषित किया है माओवादियो को गिरफ्तार करने वाली टीम में सीईओ किच्छा हिमांश शाह, थाना प्रभारी मोहन चन्द पाण्डे,थाना प्रभारी नानकमत्ता अशोक कुमार,पुलिस कर्मी संजय धोनी,लक्ष्मण लक्षनाथ गोस्वामी ,राजेन्द्र अधिकारी मौजूद रहे वही प्रेसवार्ता में एसपी सीटी देवेंद्र पींचा , एसपी क्राइम कमलेश उपाध्याय मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here