Home उत्तराखण्ड ग्रामीणों में आक्रोश फूंका सरकार का पुतला, भूख हड़ताल की चेतावनी

ग्रामीणों में आक्रोश फूंका सरकार का पुतला, भूख हड़ताल की चेतावनी

527
0
SHARE
बलबीर परमार
उत्तरकाशी। उत्तरकाशी में मंडियासारी गाँव  आजादी के सात दशक बाद भी सड़क की राह देख रहा है।  जिसके चलते ग्रामीणों का धरना गाँव के मंदिर में 64 दिन भी जारी है। ग्रामीण ने सरकार का पुतला गाँव के परागण में जला कर अपना आक्रोश दिखाया। साथ भूख हड़ताल पर बेठने की चेतावनी दी है।
सीमांतवर्ती जिले के डुंडा ब्लॉक अंतर्गत मांडियासारी गांव में आजादी के सात दशक बाद भी सड़क नहीं पहुंची है। गांव में सड़क नहीं होने से ग्रामीणों को करीब 5 किमी की पैदल दूरी नापनी पड़ रही है। गांव तक सड़क निर्माण की मांग को लेकर गांव के ग्रामीण कई बार शासन-प्रशासन स्तर पर गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अफसोस आज तक किसी का ध्यान ग्रामीणों की समस्या की ओर नहीं गया।ग्रामीण पिछले 64दिन से गाव के ही मंदिर में धरने में बैठे है।
अब  ग्रामीणों का सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने शासन-प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने ग्राम मांडियासारी स्थित नागराजा मंदिर परिसर में शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए सरकार का पुतला जलाया।और अपना आक्रोश जताया।
गांवों वालो की माने तो जंहा उन्हें सड़क न होने से तमाम समस्या होती है वंही अब उनके बच्चो के सादी के रिस्ते भी टूटने लगे है। ग्रामीण आक्रोश में है और मांग पूरी नहीं होने पर ग्रामीणों ने  भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी है। गुस्साए ग्रामीणों ने कहा कि ब्रह्मखाल- मांडियासारी मोटर मार्ग के लिए कई बार शासन प्रशासन को अवगत कराया जा चुका है। पूरा गांव पिछले 64 दिन से धरने पर है और सरकार पुतला जला ग्रामीण अपने गुस्से से सरकार को चेता रहे है।
अरण्यरोदन टाइम्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here