Home उत्तराखण्ड अपना सामान स्वयं हटा लें वरना निगम खुद करेगा ध्वस्त: नगर निगम...

अपना सामान स्वयं हटा लें वरना निगम खुद करेगा ध्वस्त: नगर निगम प्रशासन

50
0
SHARE

रुद्रपुर। नगर निगम प्रशासन ने गुरुवार को फिर से बाजार में मुनादी करा दी है कि कल तक अतिक्रमण स्वयं हटा लें अन्यथा नगर निगम खुद अतिक्रमण ध्वस्त करेगा। नगर निगम की मुनादी से बाजार में फिर अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया है। नगर आयुक्त जय भारत सिंह का कहना है कि हाईकोर्ट के आदेश पर अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू किया जाएगा। नगर निगम प्रशासन ने लाल निशान पहले ही लगा दिए हैं।
गुरुवार को नगर निगम प्रशासन ने बाजार में लाउडस्पीकर से आखिरी मौका देते हुए मुनादी करा दी है, जिसमें कहा गया है कि अतिक्रमणकारी कल तक अपना अतिक्रमण स्वयं हटा लें अन्यथा नगर निगम प्रशासन खुद अतिक्रमण हटवा देगा। अतिक्रमण हटाने में आने वाला खर्च भी संबंधित अतिक्रमणकारी से वसूला जाएगा। नगर निगम की मुनादी के बाद बाजार में फिर हड़कंप की स्थिति उत्पन्न हो गई है। यह माना जा रहा है कि बाजार में अब कभी भी पीला पंजा तबाही मचा सकता है। नगर आयुक्त का कहना है कि नगर निगम व जिला प्रशासन कई बार व्यापारियों को खुद अतिक्रमण हटाने की मोहलत दे चुका है। कुछ व्यापारियों ने अतिक्रमण खुद हटाया भी है, लेकिन बड़ी संख्या में व्यापारी प्रशासन की मोहलत को नजरअंदाज कर रहे हैं और जानबूझ कर अतिक्रमण नहीं हटा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नगर निगम ने व्यापारियों को अंतिम चेतावनी दी है। यदि अब भी व्यापारी अतिक्रमण खुद नहीं हटाते हैं तो नगर निगम के सामने अतिक्रमण को ध्वस्त करने के सिवाय कोई विकल्प नहीं बचेगा।
गौरतलब है कि हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना हो रही है। नगर निगम ने चार हफ्ते का समय हाईकोर्ट से मांगा था। जिसमें अब दो हफ्ते ही बचे हैं। प्रशासन को दो हफ्ते बाद हाईकोर्ट को स्टेटस रिपोर्ट पेश करनी होगी। यहां बता दें कि हाईकोर्ट ने 2016 में चिह्नित अतिक्रमण को हटाने के आदेश दिए थे। व्यापारियों ने लाल निशान न लगाने की बात कही तो डीएम ने दोबारा लाल निशान लगवाने की कार्यवाही कराई। व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय जुनेजा ने एक बयान जारी करके कहा है कि नगर निगम प्रशासन अतिक्रमण हटाने में जल्दबाजी न करे। उन्होंने कहा कि व्यापारियों की याचिका भी हाईकोर्ट में विचाराधीन है। उसके निर्णय का इंतजार किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here