Home उत्तराखण्ड पुलिस की वर्दी प्राप्त करना गौरव का विषय : रतूड़ी

पुलिस की वर्दी प्राप्त करना गौरव का विषय : रतूड़ी

36
0
SHARE

टिहरी। पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अनिल कुमार रतूड़ी ने कहा कि आज समाज में बढ़ रहे अपराधों के बीच पुलिस का जहां दायित्व बढ़ गये हैं वहीं चुनौतियों का पहाड़ खड़ा है, कुल मिलाकर पुलिस को जनता में विश्वास पैदा कर लगन और निष्ठा पूर्वक अपने दायित्वों को निभाना है, उन्होंने कहा पुलिस की वर्दी प्राप्त करना गौरव का विषय है।
पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अनिल कुमार रतूड़ी नरेंद्र नगर स्थित पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय में आयोजित दीक्षांत समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।
इससे पूर्व उन्होंने दीक्षांत परेड की सलामी ली।
पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अनिल कुमार रतूड़ी नहीं 46 उप निरीक्षक प्रशिक्षुओं को शपथ दिलाई जो आज कसम परेड के बाद उत्तराखंड पुलिस की मुख्यधारा में शामिल हो गए हैं। महिला उप निरीक्षक प्र शिक्षकों का यह तीसरा बैच है जो 8 मई 2017 से 9 मई 2018 तक वर्ष भर के गहन प्रशिक्षण में रहा। इससे पूर्व प्रथम वर्ष में 48 वह द्वितीय वर्ष में 29 महिला उप निरीक्षक सहित कुल 127 महिला उप निरीक्षक उत्तराखंड पुलिस की मुख्यधारा में शामिल हो गए हैं।
महानिदेशक पुलिस अनिल कुमार रतूड़ी ने कहा कि आधुनिक भारत के सभ्य समाज में वर्दीधारी जो भी संगठन है सभी को बराबरी का दर्जा प्राप्त है। उन्होंने कहा देश के राज्यों में उत्तराखंड अग्रणीय राज्यों में है जहां देश की कुल पुलिस संख्या में अपना राज्य 11.22 प्रतिशत है। उन्होंने कहा पुलिस को अपना काम जनमानस को विश्वास में लेकर आएं व्यावहारिक रूप से चुनौतियों से रूबरू होकर उनका निराकरण करने में अहम भूमिका निभानी है। उन्होंने कहा पुलिस की वर्दी हमें जिम्मेदारियां सिखाती है। सचिन प्रशिक्षण समाप्ति के बाद अब असली काम की ओर कदम बढ़ाना है और गंभीर चुनौतियों को स्वीकारते हुए लिए गए प्रशिक्षण का अनुभव, कानूनी ज्ञान तथा कहीं-कहीं विवेक की आवश्यकता के आधार पर समस्याओं का निदान करना होता है। उन्होंने यह भी कहा कि समाज के मूल्यों, संवेदना काश अधिक ध्यान रखें, कहा वर्दी के साथ नैतिकता सहिष्णुता विधिक संवत न्याय जनता का विश्वास आप सदा बनाए रखेंगे तभी सफलता हासिल होती है।
पुलिस महानिदेशक ने प्रशिक्षण देने वाले अधिकारियों की प्रशंसा की और कहा कि प्रशिक्षुओं को उनके द्वारा कराए गये मेहनत जरूर धरातल पर दिखेगी। पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्रधानाचार्य ए पी अंशुमान वर्ष भर की प्रशिक्षण व महाविद्यालय का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया।
उप प्रधानाचार्य सुखबीर सिंह ,अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश चंद्र आर्य, पुलिस उपाधीक्षक विजेंद्र दत्त डोभाल, प्रतिसार निरीक्षक सुशील रावत, मनीष जायसवाल, संजय चौहान, चंद्र सिंह नेगी, आर बी चमोला, दृढ़ इच्छाशक्ति, लगन व कर्मठता के साथ प्रशिक्षुओं को वर्षभर अपराधों की विवेचना, अपराध अनुसंधान, अभियोजन संबंधी प्रावधान, विवेचना वैज्ञानिक एवं तकनीकी उपकरणों का प्रयोग, सी सी टी एन एस, आपदा प्रबंधन, बम डिस्पोजल एंड डिटेक्शन, सर्विलांस ,साइबर क्राइम, कराटे योग आदि विषयों पर व्याख्यान के साथ गहन अध्ययन कराया गया।
इस मौके पर अपर पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) राम सिंह मीणा, प्रधानाचार्य पीटीसी ए पीअंशुमन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक टिहरी श्रीमती विमला गुंज्याल, उप प्रधानाचार्य प्रकाश चंद्र आर्य पुलिस उपाधीक्षक विजेंद्र दत्त डोभाल तथा प्रदेश के अन्य वरिष्ठ अधिकारी गण तथा शहर के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here