Home उत्तराखण्ड आधुनिक मशीनों के माध्यम से 90 डिग्री तापमान पर खाना तैयार होकर...

आधुनिक मशीनों के माध्यम से 90 डिग्री तापमान पर खाना तैयार होकर ऑटोमेटिक पैक होगा : पाण्डेय

68
0
SHARE

गदरपुर। ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय गुमचैया में रात्रि प्रवास किया तथा रात्रि प्रवास के दौरान चौपाल लगाकर जनता की समस्याएं सुनकर अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया। पाण्डेय ने प्रवास के दौरान रात्रि में दलित व्यक्ति राजकुमार के घर पर भोजन ग्रहण करने के साथ ही रात्रि विश्राम भी किया। पाण्डेय ने कहा कि दुनियां चांद पर पहुंच गई, लेकिन हमारे समाज में आज भी छुआ छूत, लिंग भेद, क्षेत्रवाद, अस्पश्र्यता आदि बुराईयां अभिषाप के रूप में फैली हुई है। उन्होंने कहा कि इन बुराइयों ने देश के विकास में खाई का काम किया है। देश के चहुंमुखी विकास के लिए इस खाई को एकजुट होकर पाटना होगा। उन्होंने कहा कि ग्रामों को सशक्त बनाना तथा समाज के अन्तिम छोर तक पात्रों को योजनाओं का लाभ पहुंचाना और सामाजिक सद्भाव, गरीब ग्रामीण परिवारों तक पहुंचाने, संचालित कार्यक्रमों पर प्रतिक्रिया प्राप्त करना, आजीविका के अवसरो में वृद्धि, नई पहल का प्रारम्भ, किसानों की आय दोगुनी करने पर फोकस, स्वच्छता एवं पंचायती राज संस्थाओं की मजबूती पर जोर दिया जाना ग्राम स्वराज अभियान का मुख्य उद्देश्य है।उन्होंने कहा कि मध्यान्ह भोजन योजना में होने वाली गड़बड़ी की शिकायतों को भी गंभीरता से लिया गया है तथा राज्य में सेन्टरालाईज किचन की व्यवस्था की जा रही है, जिसके अन्तर्गत गदरपुर विकासखण्ड में भी एक सेन्टरालाइज किचन मंजूर है। जिसमे किसी भी व्यक्ति की कोई अंगुली तक टच किए बिना ही आधुनिक मशीनों के माध्यम से 90 डिग्री तापमान पर खाना तैयार होकर ऑटोमेटिक पैक होगा तथा बच्चों की थाली में 60 डिग्री तापमान का गरमागर खाना दिया जाएगा। किचन से विद्यालयों तक भोजन पहुंचाने की भी व्यवस्था की गई है।  उन्होंने कहा कि शीघ्र ही गदरपुर शहर अपने पूर्ण वैभव में होगा। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही राज्य में संचालित आईसीएससी से संबंधित विद्यालयों में भी एनसीईआरटी की किताबे लागू की जाएंगी।  आयोजित चैपाल में कुछ क्षेत्र वासियों द्वारा गौला कालोनी में धर्मशाला के पानी की निकासी, गदरपुर मोड़ से गुमचैया तक रोड का पुन: निर्माण कराने, प्राथमिक विद्यालय गुमचैया में टीचर की कमी, छट पूजा घाट का पक्का निर्माण कराने, हैप्पी की मोटर से चन्द्रखेड़ा तक सिंचाई गूल का निर्माण कराने, सिमरनकौर नामक महिला द्वारा रोजगार के नाम पर ठगी करने, दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवाने, पेंशन स्वीकृत कराने, जाति प्रमाण पत्र,  उज्जवला योजना में गैस कनेक्शन में देरी आदि की समस्या/ शिकायत की गई। उन्होंने कहा कि गुमचैया में टीचर की नियुक्त के आदेश जारी कर दिए गए हैं तथा शीघ्र ही टीचर विद्यालय में अपनी योगदान आख्या देंगे। श्री पाण्डेय ने गदरपुर से गुमचैया तक रोड निर्माण हेतु स्टीमेट बनाने तथा तथा अस्थायी व्यवस्था के तौर पर तत्काल पेंचवर्क करने के निर्देश अधिशासी अभिन्ता लोक निर्माण विभाग को दिए। उन्होंने कहा कि छट पूजा स्थल के पक्के निर्माण हेतु कार्य कराए जाना प्रस्तावित है तथा इस वर्ष निश्चित ही छट पूजा पक्के स्थल पर ही मनाई जाएगी। उन्होंने धर्मशाला की पानी की निकासी हेतु उप जिलाधिकारी को नियमानुसार कार्रवाई करने तथा पुलिस उपाधीक्षक को क्षेत्र में रोजगार के नाम पर ठगी करने वाली महिला की पहचान करने व उसके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। अभियान के अन्तर्गत गुमचैया में उज्जवला योजना के अन्तर्गत 23 व्यक्तियों को गैस कनेक्शन तथा सौभाग्य योजना के अन्तर्गत 25 लोगों को विद्युत कनेक्शन वितरित किए गए। आयुष्मान भारत योजना में 70 परिवार चिह्नित किए गए। 50 रुपये प्रति एलईडी बल्ब की दर से उरेडा विभाग द्वारा एलईडी बल्बो का वितरण किया गया। सभी विभागीय अधिकारियों द्वारा चौपाल में जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। चौपाल कार्यक्रम का संचालन वीरेन्द्र तिवारी, हिमांशु सरकार द्वारा किया गया। इस दौरान पीडी डीआरडीए हिमांशु जोशी,  डीपीआरओ विद्या सिंह सोमनाल, सहायक गन्ना आयुक्त धरमवीर सिंह, मुख्य शिक्षा अधिकारी डा. पीएन सिंह, डीडीओ अजय सिंह, एसडीएम नरेश दुर्गापाल, संतोष गुप्ता, रवीन्द्र सिंह, डा. शकील, अमर बहादुर, वेदप्रकाश गुप्ता, कविता गुप्ता, संतोष श्रीवास्तव, तब्बन, यासीन, फारूक सहित जनप्रतिनिधि व जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here