Home उत्तराखण्ड वन विभाग ने लकड़ी से भरी ट्रैक्टर ट्राली की सीज

वन विभाग ने लकड़ी से भरी ट्रैक्टर ट्राली की सीज

61
0
SHARE

दीपक भारद्वाज
सितारगंज। सितारगंज बाराकोली रेंज की वन विभाग की टीम ने मुखबिर की सूचना पर बिष्टी रोड स्थित बघौरी गांव के पीछे से साल व शीशम की भरी जा रही ट्रैक्टर ट्राली की सूचना पर वन विभाग के अचानक आने से लकड़ी तस्कर वन विभाग की गाड़ी देखकर मौके से हुए फरार। वन विभाग ने लकड़ी से भरा ट्रैक्टर ट्राली को लिया कब्जे में। लकड़ी की कीमत एक लाख से भी ज्यादा।वन विभाग की टीम जुटी जांच में। सितारगंज बाराकोली रेन्ज की वन विभाग की टीम को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। मुखबिर की सूचना पर बिष्टि रोड बघौरी गांव के पीछे वन विभाग को सूचना मिली कि वन तस्कर साल शीशम की बड़े स्तर पर तस्करी कर रहे हैं और खेत से ट्रैक्टर ट्राली में साल व शीशम के लठ्ठे लाद रहे है। जिसपर वन विभाग की टीम जब मौके पर पहुंची तो वन तस्करों ने वन विभाग की टीम को दूर से देख लिया और साल शीशम की लकड़ी से भरी जा रही ट्रैक्टर ट्राली को वही छोड़कर मोके से फरार हो गए।वही मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने गांव वालों की मदद से ट्रैक्टर को खेत से निकलवाया और खेत में पड़ा साल शीशम को दूसरी गाड़ी में भरकर वन विभाग ऑफिस सितारगंज ले आये।
वही इस संबंध में जब बाराकोली रेन्ज के रेंजर प्रदीप कुमार से बात की तो उनका कहना था। कि मुखबिर की सूचना पर हमारी टीम ने बघोरी गांव के पास तस्करी को ले जाने को लेकर साल व शीशम की लकड़ी को ट्रैक्टर ट्राली में भरते देखा तो टीम को देखते ही लकड़ी तस्कर ट्रैक्टर ट्राली व इमारती लकड़ी को छोड़ मोके से फरार हो गये।वही इमारती लकड़ी की कीमत लगभग एक लाख से भी ज्यादा है। बिना नंबर प्लेट के ट्रैक्टर व ट्राली की पहचान को लेकर जांच की जा रही है। ट्रैक्टर के चेसिस नंबर व इंजिन नम्बर को आर०टी०ओ० ऑफिस भेजा जा रहा है। जिससे लकड़ी तस्कर की पहचान हो सके। इसके बाद ही अगली कार्यवाही की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here