Home उत्तराखण्ड कांग्रेस व हरीश रावत उत्तराखंड के विकास के विरोधी : अजय भट्ट

कांग्रेस व हरीश रावत उत्तराखंड के विकास के विरोधी : अजय भट्ट

50
0
SHARE

V
देहरादून/ हल्द्वानी । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय भट्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत द्वारा केदारनाथ धाम को लेकर की जा रही बयानबाजी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं व श्री हरीश रावत की कुण्ठा इतनी बढ़ चुकी है कि वे केदारनाथ धाम जो पूरे विश्व में फैले करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र है पर भी राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे ।
श्री अजय भट्ट ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री जी व विभिन्न प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों का केदारनाथ दर्शन के लिए आगमन सभी उत्तराखंड वासियों के लिए प्रसन्नता की बात है। प्रधानमंत्री जी जिस तरह केदारनाथ धाम के विकास व आल वेदर रोड के निर्माण के लिए कार्य कर रहे हैं वह जहाँ प्रधानमंत्री जी की केदारनाथ जी के प्रति आस्था व उत्तराखंड के विकास को लेकर उनकी दृष्टि का प्रतीक है वहीं हम उत्तराखंड वासियों के लिए यह प्रदेश की प्रगति की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। यदि कांग्रेस व श्री हरीश रावत को उत्तराखंड से जरा भी प्यार होता और वे यहां के विकास को लेकर जरा भी इच्छुक होते तो वे प्रधानमंत्री जी की यात्रा का स्वागत करते । लेक़िन उनके द्वारा जिस तरह विरोध की भाषा का प्रयोग किया जा रहा है वह कांग्रेस के उत्तराखंड व विकास विरोधी चरित्र का प्रमाण है।
श्री भट्ट ने कहा कि कुछ बोलने से पहले यदि श्री रावत प्रदेश विरोधी अपने व अपनी सरकार के कारनामों पर नजर डाल लेते तो बेहतर होता। उन्होंने कहा केदारनाथ आपदा के बाद जिस तरह कांग्रेस नेताओं ने राहत में भृष्टाचार किया उसे प्रदेश की जनता जानती है। उन्होंने श्री रावत से पूछा कि वे श्री राहुल गांधी को केदारनाथ धाम क्यों लाये थे । साथ ही वे यह भी बतायें कि कैलाश खेर प्रकरण में आपदा राहत का पैसा उन्होंने क्यों लगाया । जिसका भाजपा ने विरोध किया था। प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद कैलाश खेर को शेष भुगतान आपदा मद से नहीं किया गया अपितु दूसरी मद से किया और वह भी इस शालीनता को मानते हुए कि नई सरकार पिछली सरकार द्वारा किए गए क़रार को पूरा करती है ।
श्री भट्ट ने कहा कि उचित होगा कि श्री रावत जनता से माफी मांगे और प्रायश्चित करें। नकि प्रधानमंत्री जी की आध्यात्मिक यात्रा पर राजनीति करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here